देश में लगातार बढ़ रही रेप (RAPE ) की घटनाये

देश में लगातार बढ़ रही रेप (RAPE ) की घटनाये

कुछ सालो में देश में रेप की घटनाये लगातार बढ़ रही हे, जिस की असर देश के अंदर समाज पर भी देख ने को मिल रही हे. लोग अब थक चुके हे और लोगो में रेप होने वाली घटना को लेकर लोगो में बहुत गुस्सा भी देख ने को मिल रहा हे, अब लोग सब सड़क पर उतर कर उन दोषीओ के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हे और रेप करने वालो को कड़ी से कड़ी सजा मिले या फांसी की सजा हो ऐसी देश में आवाज़ उठ रही हे. हमारे देश में कानून हे फिर भी अपराध रुकने का नाम नहीं ले रहा और ऊपर से दिन पे दिन क्राइम बढ़ते जा रहे हे. 2012 निर्भया के साथ सामूहिक रेप केस हुआ था जिस का विरोध प्रदशर्न पुरे देश में हुआ था. उस समय जब निर्भया देर रात अपने घर जाने के लिए अनजान बस में अपने दोस्त के साथ बैठी तो उस के साथ छेड़छाड़ सरु कर दी और फिर उस के बाद निर्भया पर सामूहिक बलात्कार कर के निर्भया और उसके दोस्त दोनों को बुरी तरह ज़ख़्मी कर के बिच रास्ते में छोड़ दिया, आज भी हम उस दर्द को भूले नहीं हे की दूसरा एक और दर्द हमे कुछ दिनों से न्यूज़ और सोशल मीडिया में देखने को मिल रहा हे. कुछ दिन पहले कठुआ में एक छोटी बच्ची के साथ हादसा हो गया और उस की चीख पुरे देश को सुनाई दे रही हे.

कठुआ में 8 साल की आशिफ़ा नाम की बच्ची का गैंग रेप कर दिया और रेप कर के मारने के बाद उसे उस की लाश को जंगलो में छोड़ दिया गया.  उस लड़की को मार ने के बाद उस के मुँह को पत्थर से कुचल दिया जाता हे और रीड की हड्डीयो को तोड़ दिया जाता हे जिस से उस लड़की की पहचान को छुपाया जा सके और आरोपी पकड़ में ना आ सके. रेप करने वालो में कुछ राजस्व अधिकारी, पुलिस वाले और कुछ लड़के शामिल हे. वक़्त ऐसा भी आया की बहुत वकीलों ने आसिफा का केस लड़ने से मना भी कर दिया और दीपिका ऐश राजावत ने इस केस को अपने हाथ में लिया. कठुआ में हुए इस वारदात के बाद पुरे देश में राजनीती का माहौल बना हुआ हे और नेता एक दुसरो की तरफ आरोपबाजी करने से नजर आ रहे हे.

देश में सरकार “बेटी पढ़ाओ और बेटी बचाओ ” का नारा हर जगह जगह पे तो दे रही हे पर आज हमारे देश की बेटीया सुरक्षित नहीं हे. चाहे हिन्दू की बेटी हो या मुस्लिम की वो हमारे देश की बेटी हे और हमारे बच्चीओ को सुरक्षा करना हमारा फ़र्ज़ हे. आज हमें अपनी बेटिओ को इतना मजबूत बनाना चाहिए की जो कोई भी उन पर नज़र उठाये तो वे रानी लक्ष्मीबाई की तरह लोगो से लड़ सके और अपनी हिफाजत खुद कर सके, या फिर कोई भी लड़की के माता पिता को अपने बच्चो के साथ जाए और उनका ध्यान रखे और खास बच्चो को अकेला सुमसाम वाली जगह पर जाने से रोके. रेप करने वाले लोग मानसिक रूप से नपुंसक होते हे जो ऐसी घटना ओ को वारदात देते हे और सोचते हे की वे बच जायेगे. कुछ ऐसे भी होते हे जो सोचते हे की हम किसी लड़की पर रेप भी कर देंगे तो हमें रानीतिक पार्टिया बचा लेगी या हम पैसा दे कर बच जायेगे. खास कर जो ऐसे आरोपी होते हे उन्हें अपने परिवार वालो की इज्जत का भी ख्याल नहीं आता की इस घटना से उन की फॅमिली पे क्या गुजरेगी ?

देश में हर एक घंटे में देश की एक लड़की के साथ रेप होता हे जिस में सच ये भी हे की कुछ लड़किया पुलिस स्टेशन में FIR कराती हे और कुछ बदनामी के डर से पुलिस स्टेशन में FIR करने से दूर भागती हे जिस जा फायदा उन दोषीओ को मिलता हे और अपने नए शिकार के लिए निकल पड़ते हे और किसी लड़की के साथ रेप करते हे और उन्हें बदनाम करने की धमकी देते रहते हे. इस की वजह यह भी हे की हमारे देश में हम अपनी संस्कृति में परिवार की इज़्ज़त को ज्यादा महत्व देते हे और परिवार की बदनामी से डरते हे. ज्यादातर रेप केस करने वाले जान पहचान के लोग ही होते हे. मध्य प्रदेश के नाम देश में रेप के केस सब से ज्यादा केस दर्ज किये जा चुके हे. रेप केस के वजह से लोग अपनी बेटी को पढ़ाने से भी डर रहे हे और घर से कही बहार भी नहीं जाने दे रहे ये हाल हो रहा हे और सरकार बोल रही हे बेटी पढ़ाओ.

रेप केस बढ़ने की वजह सिनेमा जगत में हो रहे अंगप्रदर्शन भी जवाबदार हे जिस का अनुसरण करते हुए लोग देखने को मिल रहे हे. जो फिल्म में दीखता हे वैसा ही लोग कॉपी करने लग जाते हे. लोग पहले रेप का नाम भी नहीं जानते थे पर जब फिल्मो में रेप  के सिन दिखाना सरु किया हे तब से लोग जान ने लगे की जब कोई अपने से जबरदस्ती करता हे उसे रेप कहा जाता हे. आजकल अंगप्रदर्शन वाले गाने और पिक्चरों को ज्यादा दिखाया जाते हे और उसका असर समाज में देखने को मिल रहा हे. हमे अपने बच्चो को अच्छा और बुरा का भेद समजाना होगा जिस से वो किसी गलतबाजी का शिकार ना बने. ये बात सच है की जितनी ज्यादा टेक्नोलॉजी का फायदा हम इंसानो को हो रहा हे उतना ही ज्यादा नुकसान हम लोगो को ही हो रहा हे जैसे मोबाइल और टेलीविज़न. आज हम न्यूज़ में और न्यूज़ पेपर में रोज लूटफाट, रेप, मर्डर, अपहरण और चोरी जैसे केस सुन ने और पढ़ने को मिलते हे जिस से हम भी आहट में रहते हे की किसी दिन हम या हमारा परिवार भी ऐसे केसो का शिकार ना बने.

अब लोगो का सरकार और पुलिस से भरोसा उठ चूका हे और लोगो का जुलुस रोड पर भी देखने को मिल रहा हे आशिफ़ा को न्याय मिले उस के लिए लोग उन आरोपिओ का विरोध कर रहे हे और फांसी से कम सजा ना हो ये चाहते हे, आशिफ़ा जैसी 9 साल की बच्ची का रेप कर के उसे मौत के घाट उतर दिया. उन्नाव गैंग रेप केस भी आज बहुत सुर्खियों में हे इस की वजह ये की रेप करने वाला इंसान बड़ा नेता हे जिसे बचाने में बड़े बड़े नेता लगे हुए हे. आज हमारे देश को पूरी दुनिया देख रही हे और दूसरे देशो में भी आशिफ़ा और उन्नाव रेप केस का विरोध प्रदर्शन देखने को मिल रहा हे. आज किसी और की बेटी साथ हुआ हे तो कल हमारे घर पर भी हो सकता हे क्यों की अपराध और अपराधी किसी को बताकर नहीं आते.

सोशल मीडिया में भी हुई इस रेप की घटना का जमकर विरोध हो रहा हे. लोग कह रहे हे ” रेप बचाओ और देश बचाओ ” जैसे स्लोगन से इस का विरोध कर रहे हे. हमारे देश में भी रेप को लेकर स्ट्रांग कानून बन ना चाहिए , पुरे देश में एक ही आवाज अपने चरम पर हे और वो हे फांसी की सजा, ऐसे आरोपियों के लिए यही सजा सब से अच्छी रहेगी.अभी हाल कुछ दिनों पहले सरकार ने रेप को लेकर नए कानून बनाये हे, जिस में यदि किसी १२ साल से छोटी बच्ची के साथ रेप की घटना होती हे तो उसे पोस्को एक्ट के तहत फांसी की सजा होगी और रेप में ७ साल से बढाकर सजा १० साल तक की कर दी गई हे जो काबिले तारीफ हे और सभी रेप कैसो मैं ६ महीनो में कोर्ट में फैसला सुनाया जायेगा और आरोपी को अग्रिम जमानत नहीं दी जाएगी.  कुछ देश में मेरिटल रेप और रेप को लेकर अलग अलग कानून हे ज्यादातर केस में फांसी की सजा ही सुनाई जाती हे. मेरिटल रेप यानी कोई आदमी उसकी बीवी से जबरदस्ती से सम्बन्ध बनाता हे तो उसे एक तरह का रेप ही माना जाता हे जिसे मेरिटल रेप कहते हे,पर हमारे देश में कोई ऐसा कानून नहीं हे जिस पर अभी चर्चा चल रही हे ऐसे केस में क्या करना चाहिए? कुछ सालो में धर्म की आड़ में रहकर कई फ़र्ज़ी लोग लड़कियों और औरतो से रेप कर रहे हे जिन को पकड़कर जेल में डाल दिया गया हे. लड़किया आने वाले कल का देश का भविष्य हे, उनके साथ गलत होता हे तो हमारे देश के साथ भी गलत होगा.

हमने देखा हे की जयादातर देश के जवानो को VVIP नेता ओ की सुरक्षा में लगा दिया गया हे जिस के चलते जनता की और महिलाओ की सुरक्षा में कमी नजर आ रही हे. देश में महिला पुलिस की संख्या भी बहुत कम हे. आज कॉलेज, बस स्टैंड , रेलवे स्टेशन जैसे पब्लिक प्लेस भी सुरक्षित नहीं हे आये चले दिन में छेड़खानी दिखने को मिल जाती हे. अगर आज नहीं जागे तो पूरी जिंदगी भी नहीं जागे पाएंगे. आनेवाले कल के भविष्य को हम को भी बदलना हे और हम बदलेंगे और देश बदलेगा और देश का समाज भी बदलेगा. इंदौर में कुछ दिन पहले छोटी बच्ची के साथ रेप हुआ था और जब आरोपी अपना केस लेकर वहा के वकीलों के पास गया तो पुरे इंदौर शहर के वकीलों ने उस आरोपी का केस लड़ने से मना कर दिया जो देश के लिए एक सम्मान की बात हे और देश में नई मिशाल कायम की हे. हमारे सारे देश के वकील ऐसे बन जाये तो हमारा देश के कानून में बदलाव आएंगे.

Share via Whatsapp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *